आस्था को अन्धविश्वास मत बनाइये | Indian Yuva

दोस्तों, जब से बाबा रामरहीम उर्फ़ गुरमीत सिंह को कोर्ट ने 20 साल की सजा दी है. तब से न्यूज़ चैनेलो में बाबाओ का पूरा कच्चा चिठा खोलना शरू कर दिया है. आसाराम हो या रामपाल या फिर रामरहीम आये दिन नई-नई बातें सामने आरही है. और ये सब देख कर लगता है जैसे मनो देश एक गहरी नींद से जागा हो. पर ये कहना मुश्किल है की सब देशवासी जाग गए है. क्योकि जब रामरहीम को पंचकूला कोर्ट ने सजा सुनाई तो देश के 5 बड़े शहर दंगो की चपटे में आ गए. और सबसे ज़्यादा हैरानी तब हुई. जब सरकार सब कुछ तमाशबिन बनी सब देखती रही.

सरकार का तो समझ आता है. उनको अपना वोट बैंक बचाना था. पर इस देश की आम जनता को क्या फायदा हुआ? उन्होंने सिर्फ और सिर्फ इस देश के Tax payer का नुकसान किया है. जिन लोगो ने पब्लिक प्रॉपर्टी का नुकसान किया. उन से अगर ये पूछा जाये की पब्लिक प्रॉपर्टी को नुकसान पंहुचा कर उनको किया मिला? क्या रामरहीम को कोर्ट ने बरी कर दिया? जो लोग ये सब नुकसान कर रहे थे. उनको भी ये अच्छी तरह से पता था की इस तोड़ फोड़ और आग लगाने से कुछ हासिल नहीं होगा. फिर भी दंगे हुए. जिसमे 30 से ज़्यादा लोगो की मौत हो गई.

दोस्तों आप किसी बाबा के प्रति आस्था रखते है तो रखिये. पर अपनी आस्था को अन्धविश्वास मत बनाइये. ऐसे कई गुरु और बाबा है. जो समाज के लिए सच में कुछ अच्छा काम करते है. पर शायद ही अपने उनका नाम कही सुना हो. पब्लिक प्रोपेर्टी का नुकसान करने से आप देश का नुकसान करते है. और हमे ये नहीं भूलना चाहिए कोई भी देश परफेक्ट नहीं होता उसे परफेक्ट बनाना पड़ता है.


Share this post on Facebook, Twitter, Instagram And whatsapp .

Friends if you have any article ,  motivational story and any useful information. Then share us on “contact.indianyuva@gmail.com”  with your Name , Email and photo. If we like it then we will share with your name.

Also Read This Posts.

देश के जवानो का अपमान कब तक सहेगा देश?

Army Chief Bipin Rawat Give Strong Message to Anti-Nationals.

भारत के वीर” App Or Web Portal देश के सैनिको के लिए.

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *